Month: November 2018

Aurat Ka Dhokha

Created by :- Mohammad Irfan ज़ालिम ये क्या किया हमें बर्बाद कर दिया | अरमानो के महल को ताराज कर दिया || तेरा न बिगड़ा कुछ भी, वाहों में उसकी जाकर रोते हें हम हमारे , उजड़े हुए जहां पर तूने जिगर को छेद के पार कर दिया | अरमानों के महल को तराज़ कर …

Aurat Ka Dhokha Read More »

SAFAR – E – ZINDAGI

  एक सौदागर जिसका नाम अजहर है अपना सामान लेकर नदी के किनारे से गुज़र रहा है. अचानक उसने एक लड़की को नदी से निकाला  जिसका नाम ज़ुवैदा है जिसकी जान खतरे में थी और अपने कबीले में ले आया. जब उसे पता चला की बाड़ आने की वजाह से उस लड़की का सब कुछ …

SAFAR – E – ZINDAGI Read More »

ऐ अजनबी..

राहों में आ ऐसे… जैसे कहीं ना मिले बाहों में आ ऐसे… जैसे कहीं दिल मिले ऐ अजनबी…ऐ अजनबी… तुम्हें पाके भी.. ऐसा एहसास न हुआ तुम्हें देखूं तो … ऐसा खयाल ना हुआ है जैसे कोई सपना अपना हुआ ए अजनबी… ए अजनबी…. ढूंढूं तुम्हें… यूं कहीं साथी है अब ये जमीन ये दर्मिंयां.. …

ऐ अजनबी.. Read More »